महाशिवरात्रि का महत्व, महाशिवरात्रि व्रत कथा और महाशिवरात्रि पूजा विधि!

Monday, 4 March को महाशिवरात्रि आने वाली है. आज हम आपको महाशिवरात्रि का महत्व, महाशिवरात्रि व्रत कथा और महाशिवरात्रि पूजा विधि के बारे में विस्तार से बताने वाले है Hindi में.

lord shiva

महाशिवरात्रि का महत्व और महाशिवरात्रि व्रत कथा!

भगवान शिव को देवो के देव कहा जाता है. भगवान शिव की हम थोड़ी सी भी पूजा कर ले तो वो आसानी से हम पर प्रसन्न हो जाते है. महाशिवरात्रि पर शिवजी की पूजा का महत्व और बढ़ जाता है. कहा जाता है कि महाशिवरात्रि के दिन की हुई पूजा हजार गुना ज्यादा फल देती है. महाशिवरात्रि की रात को की हुई पूजा से आपके सभी पाप धूल जाते है.

महाशिवरात्रि फाल्गुन मास की चतुर्दशी को मनाई जाती है. चतुर्दशी तिथि के स्वामी भगवान शिव है. वैसे तो शिवरात्रि हर महीने में आती है, उसे हम मास शिवरात्रि बोलते है. लेकिन, फाल्गुन मास की चतुर्दशी को सबसे खास बताया गया है. इसी लिए इसे महाशिवरात्रि बोलते है.

महाशिवरात्रि की काफी सारी अलग-अलग कथा प्रचलित है. एक कथा के अनुसार इसी दिन समुन्द्र मंथन से कालकेतु विष निकला था और भगवान शिव ने पुरे ब्रह्मांड की रक्षा के लिए उसे पी लिया था. दूसरी कथा के अनुसार आज ही के दिन भगवान शिव और माँ पार्वती का विवाह हुआ था.

 महाशिवरात्रि पर राशि अनुसार पूजा विधि!

पूजा आपको भगवान शिव के पूरे परिवार की करनी चाहिए. पहले गणेशजी की, पार्वतीजी की, नंदी की और आखिर में भगवान शिव की पूजा करे. अकेले शिवजी की पूजा करने से आपको फल नहीं मिलता.  

मेष राशि

मेष राशि वालो को इस दिन शिवजी को मीठी रोटी का भोग अर्पित करना चाहिए. गुड़ के जल से या कुमकुम के जल से शिवलिंग पर अभिषेक करना चाहिए. “ह्रीं ॐ नमः शिवाय ह्रीं”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

वृषभ राशि

वृषभ राशि वाले लोगो को महाशिवरात्रि के दिन शिवजी का दही से अभिषेक करना चाहिए.  शक्कर, चावल, सफेद चंदन, सफेद फूल भगवान शिव को पूजा में अर्पित करे. “ॐ नमः शिवाय”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

मिथुन राशि

मिथुन राशिवाले लोगो को महाशिवरात्रि के दिन गन्ने के रस से अभिषेक करना चाहिए. मूंग और कुशा शिवजी को पूजा के वक्त अर्पित करे. “ॐ नमो भगवते रुद्राय”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

कर्क राशि

कर्क राशि वाले लोगो को घी से भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिए. शंखपुष्पी के पत्तों को पूजा में अर्पित करे. “ॐ हौं  जूं सः”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

सिंह राशि

सिंह राशि वाले लोगो को महाशिवरात्रि के दिन गुड़ और लाल चंदन के जल से शिवलिंग पर अभिषेक करना चाहिए. गुड़ और चावल से बनी खीर का भोग लगाए. “ॐ नमः शिवाय”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

कन्या राशि

कन्या राशि वाले लोगो को गन्ने के रस से अभिषेक करना चाहिए. पूजा में भांग और दुब भगवान शिव को अर्पित करे. “ॐ भूतेश्वराय नमः”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

तुला राशि

तुला राशि वाले लोगो को महाशिवरात्रि के दिन घी या इत्र से शिवलिंग पर अभिषेक करना चाहिए. शिवजी को पूजा में दही और श्रीखंड का भोग लगाए. “ॐ नागेश्वराय नमः”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

वृश्चिक राशि

वृश्चिक राशि वाले लोगो को शहद और पंचामृत से शिवलिंग पर अभिषक करना चाहिए. कोई भी लाल फूल पूजा में अर्पित करे. “ॐ अंगारेश्वराय नमः”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

धनु राशि

धनु राशि वाले लोगो को महाशिवरात्रि के दिन हल्दी के दूध से शिवलिंग पर अभिषेक करना चाहिए. दूध और बेसन से बनी हुई मिठाई का भोग लगाए. “ॐ रामेश्वराय नमः”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

मकर राशि 

मकर राशि वाले लोगो को नारियल के पानी से भगवान शिव का अभिषेक करना चाहिए. पूजा में उड़द से बनी हुई मिठाई का भोग लगाए. “ॐ ममलेश्वराय नमः”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

कुंभ राशि

कुंभ राशि वाले लोगो को महाशिवरात्रि के दिन तिल और सरसो के तेल से शिवलिंग पर अभिषके करना चाहिए. शमी के फूल या उसके पत्तों से भगवान शिव की पूजा करे. “ॐ शिवाय नमः”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.

मीन राशि

मीन राशि वाले लोगो को केसर के दूध से शिवलिंग पर अभिषेक करना चाहिए. पूजा में दही और भात का भोग लगाए. “ॐ भौमेश्वराय नमः”  मंत्र का 108 बार जाप करना आपके लिए फलदायी होगा.